Monday, February 6, 2017

Zindgi

जिन्दगी आज कल गुजर रही है इम्तिहानो के दौर से…

एक जख्म भरता नही दूसरा आने की जिद करता है…


No comments:

Post a Comment

Success

अभी काँच हूँ  इसलिए सबको चुभता हूँ,   ♦जिस_दिन☝🕵   आइना बन_जाऊँगा , उस दिन  पूरी दुनियाँ देखेगी ...!!